15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

15 August event in Delhi Red fort  स्वतंत्रता दिवस आयोजन

15 august को मनाया जाने वाला भारत का स्वतंत्रता दिवस, 1947 का वह दिन है जब भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी। मुख्य उत्सव दिल्ली के लाल किले में होता है, जो एक ऐतिहासिक स्मारक है जिसका बहुत महत्व है।

लाल किला देश के उत्सव का केंद्र बिंदु बन जाता है। यह कार्यक्रम आम तौर पर प्रधान मंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ शुरू होता है, जिसके बाद राष्ट्रगान गाया जाता है।

इस कार्यक्रम में सरकारी अधिकारियों, विदेशी सम्मानित व्यक्ति और आम जनता सहित हजारों लोग शामिल होते हैं।

15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

लाल किला अपने आप में भारत के स्वतंत्रता संग्राम का जाना जाता है, क्योंकि यह वह स्थान है जहाँ से भारत के पहले प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने 15 august, 1947 को ब्रिटिश शासन के अंत होने पर, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। शासन और देश के लिए एक नए युग की शुरुआत।

लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस मनाने की परंपरा भारतीयों को उनके साझा इतिहास और स्वतंत्रता और लोकतंत्र के मूल्यों को बनाए रखने के महत्व की याद दिलाती रहती है।

और पढ़ें 👉 दिल्ली की 14 बेस्ट घूमने की जगह

15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

स्वतंत्रता दिवस समारोह विशेष 15 august special Indipendence days

झण्डा फहराना: कार्यक्रम की शुरुआत भारत के प्रधान मंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराने से होती है। झंडा देश की सर्वोच्च सत्ता और एकता का प्रतीक है। झंडा फहराने के साथ राष्ट्रगान होता है, जिससे देशभक्ति और गौरव की भावना पैदा होती है।

प्रधानमंत्री का भाषण: झंडा फहराने के बाद प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से भाषण देते हैं। भाषण आम तौर पर देश की प्रगति, उपलब्धियों, चुनौतियों और भविष्य के लक्ष्यों को दर्शाता है। और देश के विकास के लिए सरकार की योजनाओं पर बात की जाती है।

15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

गार्ड ऑफ ऑनर: प्रधान मंत्री के भाषण के बाद, मिलिट्री  फोर्स और पैरामिलिटरी फोर्स द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिखाया  जाता है। सैन्य अनुशासन और सटीकता का यह प्रदर्शन देश की आर्मी सेनाओं की ताकत को दर्शाता है।

सांस्कृतिक प्रदर्शन: इस कार्यक्रम में सांस्कृतिक प्रदर्शन होते हैं जो भारत की सांस्कृतिक विरासत का जश्न मनाते हैं। इन प्रदर्शनों में देश के अलग अलग राज्यों और क्षेत्रों के पारंपरिक नृत्य, संगीत और नाटकीय कार्यक्रम दिखाए जाते हैं। इससे भारत की अनेकता में एकता को समझा जा सकता है।

15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

झांकी परेड: राज्य और सरकारी विभाग अक्सर रंगीन झांकियों की परेड में भाग लेते हैं जो उनकी सांस्कृतिक, सामाजिक और आर्थिक उपलब्धियों को दर्शाती हैं। ये गतिशील प्रदर्शन प्रत्येक क्षेत्र की प्रगति और अनोखापन को उजागर करते हैं।

अतिथि और सम्मानित व्यक्ति: इस कार्यक्रम में विदेशी राजदूतों, सरकारी अधिकारियों और बड़ी हस्तियों सहित विभिन्न गणमान्य व्यक्ति भाग लेते हैं। विदेशी गणमान्य व्यक्तियों को इन्वाइट करना शामिल हैं।

सुरक्षा व्यवस्था: कार्यक्रम की हाई-प्रोफाइल विशेषता और बड़े नेताओं की उपस्थिति को देखते हुए, सख्त सुरक्षा उपाय किए जाते  हैं। लाल किले के आसपास के पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर दी जाती है और आने वाले लोगों की सुरक्षा जांच की जा रही है।

15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

सभी लोगों की भागीदारी: इस कार्यक्रम में vip और बड़े लोग शामिल होते हैं, आम जनता भी दूर से समारोह देख सकती है। पूरे समारोह को अक्सर टेलीविजन और रेडियो पर सीधा दिखाया जाता है, जिससे देश भर के लोग समारोह में शामिल हो सकें।

तिरंगे रंग की सजावट: पूरे आयोजन स्थल को भारतीय ध्वज के रंगों- केसरिया, सफेद और हरे रंग से सजाया गया है, जिससे एक आकर्षक और देशभक्ति वाला माहौल बन जाता है।

और पढ़ें 👉 दिल्ली के लाल क़िले से जुड़ी सभी जानकारी और तथ्य

15 August को दिल्ली घूमने की सबसे खास जगह लाल क़िला

कुल मिलाकर, दिल्ली के लाल किले में स्वतंत्रता दिवस समारोह भारत की आजादी की कड़ी मेहनत की याद दिलाता है और देश को भविष्य के लिए अपनी उपलब्धियों का सम्मान करने के लिए एक साथ आने का मौका देता है।

लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह भारत के इतिहास, एकता और प्रगति के लिए चल रहे प्रयासों की एक शक्तिशाली याद के रूप में कार्य करता है। यह सभी भारतीयों के लिए एकता और गर्व का समय है क्योंकि ये अपने देश की स्वतंत्रता का जश्न मनाने का समय होता हैं।

Leave a Comment