Kajiranga national park कहां हैं, क्यों फेमस है जानिए पूरी जानकारी हिन्दी में,2023

Kajiranga नेशनल पार्क  से जुड़ी सभी जानकारी और facts

Kajiranga national park भारत का एक बहुत ही विशाल उद्यान है। जिनमें बंगाल बाघ, एशियाई हाथी, जंगली भैंस,सांभर हिरण, हॉग हिरण और गैंडा देखे जा सकते हैं। यह देश के उत्तरपूर्वी भाग में स्थित है और लगभग 430 वर्ग किलोमीटर (166 वर्ग मील) क्षेत्र में फैला है। यह एक महान, अनोखा और प्रमुख वन्यजीव अभ्यारण्य है। 1985 में, इसे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया था।

Kajiranga नेशनल पार्क, भारत के असम राज्य में स्थित एक प्रमुख वन्यजीव अभ्यारण्य है जिसकी खासियत निम्नलिखित है:

Kajiranga national park कहां हैं, क्यों फेमस है जानिए पूरी जानकारी हिन्दी में,2023

गैंडा संरक्षण(Rhinoceros Protection): काजीरंगा ने भारतीय एक सींग वाले गैंडे के संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है,

यह एक ऐसी प्रजाति है जो कभी विलुप्त होने के कगार पर थी।

पार्क के सफल संरक्षण प्रयासों से गैंडों की आबादी में वृद्धि देखी गई है, जिससे यह संरक्षण की सफलता की कहानी बन गई है।

जीप और हाथी सफ़ारी(jeep Safari): पर्यटक जीप सफ़ारी और हाथी की सवारी के माध्यम से kajiranga को देख सकते हैं,

जो पार्क के वन्य जीवन को करीब से देखने का अवसर प्रदान करते हैं।

ये सफ़ारियाँ पर्यटकों को पार्क के निर्दिष्ट मार्गों से घूमाती है जिससे गैंडे, बाघ, हाथियों और अन्य जानवरों को देखने की संभावना बढ़ाती हैं।

और इसके अलावा यहाँ पर्यटकों को गणगंगा नदी पर एक बोट सवारी भी दी जाती है।

इस कुदरती उद्यान(गार्डन)  में बहुत सारी चिड़ियां, मगरमच्छ, तालाबी मेंढ़क, वन्यहाथी और गैंडे आदि देखें जा सकते हैं।

यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल(world heritage site): काजीरंगा नेशनल पार्क 985 में, इसकी संरक्षण प्रयासों के कारण इसे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल के रूप में शामिल किया गया था।

इसका मुख्य उद्देश्य वन्यजीवो की सुरक्षा  करना है। यह एक रोमांचकारी और खूबसूरत स्थान है।

वन्यजीव धरोहर(wildlife wildlife): kajiranga नेशनल पार्क वन्यजीव धरोहर के रूप में बहुत महत्वपूर्ण है।

यहां घूमने के लिए आने वाले मुख्य रूप से वन्य जीवों की दुनिया के सबसे बड़े और सबसे घने समुदाय के दर्शन कर सकते हैं।

kajiranga national park में एशियाई हाथी, गैंडा, गायाल, अफ्रीकी भालू, भारतीय बाघ, बारासिंगा और बंगाल तेंदुआ जैसे विभिन्न प्रकार के वन्य जीव पाए जाते हैं

घासीय भूमि(Greenland): काजीरंगा नेशनल पार्क  विश्व में सबसे बड़ी घासीय भूमि के रूप में प्रसिद्ध है।

यहां घूमने वालों  को विशाल मैदानों, घास के मैदानों और बांधों की खूबसूरती का आनंद मिलता है।

जंगल सफारी(jungle Safari): kajiranga national park में पर्यटक जंगल सफारी का आनंद ले सकते हैं।

जीप सफारी या हाथी पर सफारी करके, आप इस निराले अभ्यारण्य(जहां पशूओ का संरक्षण किया जाता है)  की खूबसूरत जंगली जीवन पद्धति के नजारे देख सकते हैं।

पक्षी दर्शन(bird watching): काजीरंगा नेशनल पार्क विभिन्न प्रकार की चिड़ियों के लिए एक स्वर्ग के समान है।

इसकी सीमाओं के भीतर पक्षियों की 500 से अधिक प्रजातियाँ दर्ज हैं।

जिनमें बाल इगल, मोर, बाज, हंस, रंगबिरंगी पक्षी और अन्य प्रजातियाँ शामिल हैं।

पर्यावरणीय चुनौतियाँ(challenges): काजीरंगा को स्थानीय समुदायों की निकटता के कारण अवैध शिकार जैसी कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

पार्क अधिकारी, विभिन्न संगठनों के साथ, इन मुद्दों को बात करने और पार्क के बहुमूल्य Ecosystem की सुरक्षा में एक्टिव रूप से शामिल हैं।

kajiranga national park एक प्राकृतिक सम्पदा (दौलत) है जो वन्य जीवों के लिए एक सुरक्षित  आवास है।

यहां के सुंदर नजारे, वनस्पति और वन्यजीव धरोहर का आनंद लेने के लिए, यह एक महान पर्यट्क स्थल ( घूमने की जगह)  है।

और पढ़ें 👉 आसाम से जुड़ी सभी जानकारी

Kajiranga national park कहां हैं, क्यों फेमस है जानिए पूरी जानकारी हिन्दी में,2023

Kajiranga national park facts काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के बारे में तथ्य:

काजीरंगा नेशनल पार्क भारत के राज्य असम में स्थित एक प्रसिद्ध नेशनलपार्क  है। kajiranga नेशनल पार्क के बारे में कुछ मुख्य तथ्य इस प्रकार हैं:

यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल: kajiranga national park को  1985 में यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया था।

स्थान(Location): यह पार्क असम के गोलाघाट और नागांव जिलों में ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे स्थित है। इसका क्षेत्रफल लगभग 430 वर्ग किलोमीटर (166 वर्ग मील) है।

वन्यजीव संरक्षण(Protection): काजीरंगा नेशनल पार्क भारतीय एक सींग वाले गैंडे के संरक्षण के लिए प्रसिद्ध है। दुनिया की लगभग दो-तिहाई आबादी पार्क में रहती है।

अन्य वन्यजीव(wildlife): गैंडे के अलावा, kajiranga अन्य विविध वन्यजीव प्रजातियों का भी घर है,

जिनमें बंगाल बाघ, एशियाई हाथी, जंगली जल भैंस, दलदल हिरण, सांभर हिरण, हॉग हिरण और प्राइमेट्स की विभिन्न प्रजातियां शामिल हैं।

एविफ़ौना(avifauna): पार्क पक्षी देखने वालों के लिए एक स्वर्ग है, क्योंकि इसमें पक्षियों की प्रभावशाली आबादी है। यह 500 से अधिक पक्षी प्रजातियों का घर है।

पारिस्थितिकी तंत्र(Unique Ecosystem): काजीरंगा नेशनल पार्क की विशेषता व्यापक घास के मैदान, दलदल और लंबी हाथी घास है, जो बीच-बीच में घने जंगलों के टुकड़ों से घिरा हुआ है।

नदी द्वीप(River Island): ब्रह्मपुत्र नदी kajiranga नेशनल पार्क से होकर बहती है, जिससे कई नदी द्वीप बनते हैं जिन्हें “चास” या “बील्स” के नाम से जाना जाता है।

संरक्षण में सफलता(Success): काजीरंगा नेशनल पार्क अपने संरक्षण प्रयासों में सफल रहा है,

विशेष रूप से भारतीय एक सींग वाले गैंडे की रक्षा में। पिछले कुछ वर्षों में पार्क में गैंडों की आबादी में  वृद्धि हुई है।

जीप और हाथी सफ़ारी(Elephant Safari): काजीरंगा नेशनल पार्क में पर्यटक संगठित जीप सफ़ारी या हाथी सफ़ारी,

ये सफ़ारियाँ पार्क के वन्य जीवन को नज़दीक से देखने का अवसर प्रदान करती हैं।

खतरे और चुनौतियाँ(challenges): kajiranga national park को विभिन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ता है,

जिसमें निवास स्थान का नुकसान, अतिक्रमण, अवैध शिकार और मानव-वन्यजीव संघर्ष शामिल हैं।

और पढ़ें 👉 ट्रैवल बढ़ाता है आत्मविश्वास को जानें कैसे

Kajiranga national park कहां हैं, क्यों फेमस है जानिए पूरी जानकारी हिन्दी में,2023

Delhi to kajiranga दिल्ली से काजीरंगा:

दिल्ली से काजीरंगा नेशनल पार्क की दूरी लगभग 2,050 किलोमीटर (1,275 मील) है।

काजीरंगा नेशनल पार्क भारत के असम राज्य में स्थित है। दिल्ली से kajiranga तक यात्रा करने के लिए परिवहन विकल्प यहां दिए गए हैं:

हवाई मार्ग से: दिल्ली से काजीरंगा पहुंचने का सबसे तेज़ तरीका हवाई मार्ग है।

आप दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए उड़ान ले सकते हैं।

इस मार्ग पर कई एयरलाइंस उड़ानें संचालित करती हैं। गुवाहाटी से, आप सड़क मार्ग से kajiranga जा सकते हैं

या जोरहाट हवाई अड्डे के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट ले सकते हैं, जो kajiranga के करीब है।

ट्रेन से: दिल्ली से काजीरंगा तक का सफर आप ट्रेन से भी कर सकते हैं।

हालाँकि, Delhi से kajiranga के लिए कोई सीधी ट्रेन नहीं है। आप दिल्ली से गुवाहाटी के लिए ट्रेन ले सकते हैं, जो निकटतम प्रमुख रेलवे स्टेशन है।

गुवाहाटी से, आप kajiranga पहुंचने के लिए टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या स्थानीय बस ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से: दिल्ली से काजीरंगा तक की सड़क यात्रा काफी लंबी और समय लेने वाली है। दूरी तय करने के लिए आपको लगभग 40-45 घंटो का समय लग सकता है।

और पढ़ें 👉 दिल्ली के 14 बेस्ट टूरिस्ट पैलेस

Guwahati to kajiranga गुवाहाटी से काजीरंगा:

गुवाहाटी से काजीरंगा नेशनल पार्क की दूरी लगभग 200 किलोमीटर (124 मील) है।

गुवाहाटी से काजीरंगा नेशनल पार्क तक यात्रा करने के लिए, आप परिवहन के विभिन्न साधन ले सकते हैं:

सड़क मार्ग द्वारा: गुवाहाटी से kajiranga पहुंचने का सबसे आम रास्ता सड़क मार्ग है।

आप या तो टैक्सी किराये पर ले सकते हैं या बस ले सकते हैं। यातायात की स्थिति के आधार पर यात्रा में लगभग 4-5 घंटे लगते हैं।

ट्रेन द्वारा: kajiranga national park का निकटतम रेलवे स्टेशन फुर्केटिंग जंक्शन है, जो लगभग 75 किलोमीटर (47 मील) दूर है।

कई ट्रेनें गुवाहाटी और फुर्केटिंग जंक्शन को जोड़ती हैं। वहां से, आप kajiranga पहुंचने के लिए टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या स्थानीय बस ले सकते हैं।

हवाई मार्ग से: kajiranga national park  का निकटतम हवाई अड्डा जोरहाट हवाई अड्डा है, जो लगभग 97 किलोमीटर (60 मील) दूर है।

आप गुवाहाटी से जोरहाट के लिए उड़ान ले सकते हैं और फिर टैक्सी या बस से काजीरंगा तक अपनी यात्रा जारी रख सकते हैं।

Kajiranga नेशनल पार्क में आराम करने और भोजन करने के लिए आप निम्नलिखित टिप्स अपना सकते हैं:

Kajiranga national park कहां हैं, क्यों फेमस है जानिए पूरी जानकारी हिन्दी में,2023

Kajiranga national park के पास आराम के लिए:

काजीरंगा नेशनल पार्क के आस पास आपको आरामदायक होटल, रिसोर्ट , लग्ज़री हाउस मिल जायेंगे।जहां आप आराम कर सकते हैं।

आपको  आपने बजट के हिसाब से अपने आराम के लिए एक अच्छा होटल या रिसोर्ट का चयन कर सकते है।

सुरक्षित स्थान चुनें: kajiranga national park में आपको आराम करने के लिए आपको सुरक्षित स्थान चुनना होगा।

आपको एक ऐसे स्थान का चयन करना चाहिए जो आपको सुरक्षित और आरामदायक महसूस होता है।

काजीरंगा नेशनल पार्क में कई आराम करने के स्थान हैं, जहां आप बैठकर विश्राम कर सकते हैं।

Kajiranga भोजन के लिए:

स्वच्छ भोजन: जब भी आप kajiranga national park में सभी जीव की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए खाने की वस्तु को ले जाने पर पाबन्दी है।

आप आपने खाने के लिए स्थानीय रेस्टोरेंट या ढाबे का चयन करें, जो अच्छी हाइजीन स्तर पर खाद्य प्रदान करते हैं

शिष्टाचार के साथ पानी पीने और खाना खाने का ध्यान रखा जाता है।

स्वादिष्ट स्थानीय खाना: kajiranga national park के लोकल एरिया में आपको स्थानीय आहार का एक अनोखा स्वाद देखने मिल जाएगा।

आप इसका आनंद उठाएं और मसालेदार बाँस भात, माछी करी, और स्वादिष्ट असम के खाने का आनंद ले सकते हैं।

जलपान की सुरक्षा का ध्यान रखें: जब भी आप काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान जाएं,

तो आपको अपनी सेहत का खयाल रखते हुए हमेशा स्वच्छ पानी और स्वच्छ खाने का चयन करना होगा।

इससे आप स्वस्थ रहेंगे और किसी बीमारी का सामना नही करना पड़ेगा।

सावधानी बरतें: आपको हमेशा यात्रा के दौरान सतर्क रहना चाहिए और राष्ट्र उद्यान (national park) के नियमों और दिशानिर्देशों (guidelines) का पालन करना चाहिए।

किसी भी प्राकृतिक सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आपको कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जो कि रूल्स के खिलाफ़ हो।

इन सरल निर्देशों का पालन करके आप kajiranga national park में आराम से अपनी journey को एंजॉय कर सकते हैं।

 

3 thoughts on “Kajiranga national park कहां हैं, क्यों फेमस है जानिए पूरी जानकारी हिन्दी में,2023”

Leave a Comment